स्वच्छता अभियान में विद्यार्थियों की भूमिका

प्रस्तावना :-      

                  संसार का प्रत्येक प्राणी सुख की कामना करता है । परन्तु चाहने मात्र से ही न आज तक कोई सुखी हुआ है , न होगा । जब तक उसके लिए कुछ प्रयास न किया जाए , सुख आकाश पुष्प के समान असम्भव बना रहता है । सुखी रहने का सबसे अच्छा तरीका है- " स्वच्छता " वर्तमान समय में हमारे देश में स्वच्छता अभियान ' पर बहुत जोर दिया जा रहा है । हमारे देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा पूरे देश में स्वच्छता अभियान जोर शोर से चलाया जा रहा है ।

students in cleanliness text image in hindi

स्वच्छता अभियान :- 

                            " स्वच्छ भारत , स्वस्थ भारत " ये नारा बड़े जोर - शोर से हमारे देश के कोने - कोने में गूंज रहा है । महात्मा गाँधी ने सभी भारतवासियों को साफ सफाई के प्रति जागरूक रहने का संदेश दिया था । वे भारत को स्वच्छ भारत के रूप में देखना चाहते थे , जिसमें कि लोग स्वयं से अपने आसपास की सफाई करें । 

महात्मा गाँधी के इसी नजरिए को हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने " स्वच्छ भारत अभियान " के रूप में परम पूज्य महात्मा गाँधी के जन्मदिवस 2 अक्टूबर , 2014 को उद्घाटित किया और लोगों से आग्रह किया कि वे अपने आसपास की सफाई करके इस अभियान को सफल बनाए ।

इन्हें भी पढ़ें :-
 इस मिशन के पूर्ण सफल होने में पाँच साल लग जाएंगे , जिससे बापू की 150 वीं सालगिरह पर हम इस कर्त्तव्य को पूर्ण कर पाएंगे । स्वच्छ भारत अभियान के तहत लोगों से आग्रह है कि वे 100 घंटे प्रतिवर्ष स्वच्छता को समर्पित करें ।

 इस अभियान को सफल बनाने हेतु मोदी जी ने हमारे देश के 9 जानी मानी हस्ती मृदुला सिन्हा , सचिन तेन्दुलकर , बाबा रामदेव , शशि थुरुर , अनिल अंबानी , कमल हासन , सलमान खान , प्रियंका चोपड़ा और " तारक मेहता का उल्टा चश्मा " टी . वी . सीरियल के कलाकारों से आग्रह किया कि वे स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े और अधिक से अधिक लोगों को जोड़कर इस शृंखला को आगे बढ़ाएँ । और आम लोगों से भी आग्रह किया कि वे इस कार्य को सफल बनाने में सहयोग दें । 


छात्रों की भूमिका :-

                                     विद्यार्थी जीवन पूरे जीवन का स्वर्णिम समय है । इसी अवस्था में ज्ञान प्राप्त करते हुए संस्कारों को अपनाया जाता है , क्योंकि इस अवस्था में बुद्धि तीव्र होती है व मन निर्मल होता है । इस काल में विद्यार्थी के भीतर सीखने व कुछ करने की अलग ही उमंग होती है । यह अवस्था सारे जीवन की बुनियाद है । विद्यार्थी को देश की आशा देश का भविष्य , भावी पीढ़ी का कर्णधार माना जाता है । 

हम बचपन से ही विद्यार्थियों को सफाई का महत्व सिखाएँगे तो निश्चित ही एक दिन हम स्वच्छ भारत के स्वस्थ भारत के रूप में जाने जाएँगे । 


उपसंहार :-

                  आज हर विद्यार्थी का परम कर्त्तव्य है कि वे अपने आस - पास को स्वच्छ रखे , अपने आपको स्वच्छ रखें व साफ सफाई का संदेश अन्य लोगों को भी दें । तभी ये अभियान सफलता की सीढ़ी तय करेगी ।

दोस्तों उम्मीद है, कि आपको हमारे द्वारा यह लिखा गया लेख (Essay on role of students in cleanliness campaign in hindi) आपको जरूर पसंद आया होगा, और आपके लिए बहुत ही कारगर साबित हुआ होगा, यदि आपको यह लेख पसंद आया, तो प्लीज इसे सोशल मीडिया पर शेयर कीजिए, और यदि आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूलें धन्यवाद !

Post a Comment

Previous Post Next Post