इंटरनेट का मालिक कौन है ?

दोस्तों इंटरनेट को लेकर अक्सर हमारे मन में यह सवाल उठते हैं, कि आखिर इंटरनेट का असली मालिक कौन है ? (Owner Of the internet) या इसे कौन नियंत्रित कर रहा है ? इंटरनेट की सुविधा हमें कौन देता है ? दोस्तों जानेंगे इस पोस्ट में इन सभी सवालों के जवाब जो कि जानना बेहद जरूरी है. तो अब चलिए जानते हैं कि इंटरनेट इतना व्यवस्थित कैसे है ? और इसका मालिक कौन है ?

सोचिए कि यदि इंटरनेट का मालिकाना हक यदि किसी के पास होता तो क्या होता है ? शायद हमें बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता. जितनी आजादी के साथ आज हम इंटरनेट का प्रयोग करते हैं शायद उतना आजादी हमें नहीं मिल पाती. इसका अर्थ साफ है कि इंटरनेट का ना तो कोई मूल अध्यक्ष है और ना ही कोई इसका मुख्य मालिक है. जी हां दोस्तों आपने सही पढ़ा इंटरनेट का कोई मालिकाना हक अपने पास नहीं रखता.

इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड (IAB) :-

इंटरनेट के अध्यक्ष या मुख्य मालिक या (CEO) हो सकते हैं. लेकिन इंटरनेट का पूर्ण रूप से कोई संचालन या नियंत्रण नहीं करता. इंटरनेट पर अल्टीमेट अथॉरिटी (Ultimate Authority) इंटरनेट सोसाइटी है. जो एक स्वयंसेवी (Volunteer) सदस्यता संगठन है. जिसका उद्देश्य इंटरनेट प्रौद्योगिकी के माध्यम से विभिन्न संचार के आदान-प्रदान का विकास करना है. जो कि आमंत्रित स्वयंसेवकों के परिषद का चयन करती है. जिसको इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड (IAB) कहा जाता है.

इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड (IAB) की जिम्मेदारी :-

इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड प्रबंधन  तथा दिशा   के लिए उत्तरदाई होता है. कंप्यूटर तथा सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन के मध्य बातचीत करने के लिए कुछ टूल्स हैं. जिसके आधार पर इंटरनेट कार्य करता है. ये टूल्स विभिन्न कंपनियों के द्वारा निर्मित कंप्यूटर के मध्य भी बातचीत करने में कोई समस्या उत्पन्न नहीं होती है. इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड सामान्यतः इस तरह के टूल्स बनाने के लिए बैठक करती रहती हैं. तथा एड्रेस जैसे रिसोर्स का आवंटन करती रहती है. जब किसी टूल्स की आवश्यकता होती है. तब यह समस्या पर विचार करती है. तथा टूल्स को ग्रहण करती है. और इसकी घोषणा इंटरनेट के माध्यम से करती है.

इन्हें भी पढ़ें :-

  • What is Computer in Hindi | कंप्यूटर क्या है ?
  • कंप्यूटर के प्रकार (Types of computer in hindi)
  • what is Internet in hindi इंटरनेट क्या है?

इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटरों की पहचान :-

इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड ऐसे सूचना को भी रखता है जो कि इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटरों की पहचान विशेष रुप (unique) से करती है. जैसे इंटरनेट के प्रत्येक कंप्यूटर का एक - एक विशेष पहचान 32 बिट एड्रेस होता है. किसी भी 2 कंप्यूटरों का एक एड्रेस नहीं हो सकता है. इंटरनेट आर्किटेक्चर बोर्ड यह सुनिश्चित करता है. कि प्रत्येक कंप्यूटर के नामकरण के लिए कुछ निश्चित नियमों का पालन किया जाए.

इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स का गठन :-

इंटरनेट यूजर अपने विचार इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स (Internet Engineering Task Force) के बैठकों के माध्यम से व्यक्त करता है. इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स (IETF) एक अन्य स्वयंसेवी संगठन है. जो इंटरनेट के Operational तथा Technicaly समस्याओं पर चर्चा करने के लिए लगातार बैठकें आयोजित करती है. तथा जब कोई समस्या बहुत अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है. तब इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स इस समस्या से संबंधित आगे की जांच के लिए एक कार्यकारी समूह का गठन करता है. कोई भी व्यक्ति IETF की बैठकों में शामिल होकर इस समूह का भाग या हिस्सा बन सकता है. कार्यकारी समूह यह घोषणा करता है कि इस समस्या के समाधान के लिए कोई टूल्स की घोषणा की जाएगी या नहीं.

संक्षेप में (In short) :-

दोस्तों हम आशा करते हैं, कि आप इस पोस्ट में इंटरनेट का मालिक कौन है ? (Owner Of the internet) और इंटरनेट इतना व्यवस्थित कैसे हैं ? के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी. यदि फिर भी इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव आपके पास है. तो आप हमें कमेंट बॉक्स (Comment Box) के माध्यम से दे सकते हैं. जिस पर हम विचार करेंगे यदि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आया तो इसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ( F.B., Insta., Twitter etc.) पर शेयर करें. धन्यवाद..!

Post a Comment

और नया पुराने