महात्मा गाँधी पर निबंध - MahatmaGandhi Essay


Mahatma Gandhi text image in Hindi

गांधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था इनकी माता का नाम पुतलीबाई था इनका जन्म गुजरात के पोरबंदर में 1869 को हुआ था 

पोरबंदर में ही मैट्रिक पास करके ये उच्च शिक्षा हेतु विलायत गए थे विलायत से वापस आकर अपने मुंबई में बैरिस्टरीआरंभ की लेकिन शीघ्र ही वकालत छोड़ कर देश की सेवा में जुट गये 

उस समय भारत अंग्रेजों के अत्याचार से त्रस्त था गांधीजी ने अफ्रीका में भारतीयों की सहायता कर उन्हें उनके मानव अधिकार दिलाए

गांधी जी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे तथा स्वावलंबी थे । इन्होंने स्वदेशी वस्तुओं के प्रयोग का तथा खादी आंदोलन चलाएं। नमक कानून और जंगल कानून तोड़ा, तथा सत्याग्रह किया तत्पश्चात  देश की स्वतंत्रता के लिए अहिंसा के बल पर स्वतंत्रता संग्राम में जुटे रहे

Read also :-

देश के नेताओं, शहीदों और देशभक्तों को एकत्र कर भारत छोड़ो आंदोलन चलाया इन्हें कई बार अंग्रेजों ने जेल में डाला पर उनके विचार दृढ़ रहे गांधी जी ने हरिजनों का उद्धार किया शराबबंदी और हिंदू - मुस्लिम एकता के लिए सतत प्रयत्न किए

15 अगस्त 1947 में भारत आजाद हुआ और 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे ने प्रार्थना सभा में गांधी जी को गोली से मार कर हत्या कर दिया और गांधीजी 'हे राम' कहकर बापू ने अपने प्राण त्याग दिए

यह सच्चे देशभक्त महान संत समाज सुधारक थे जिन्हें हम राष्ट्रपिता या बापू भी कहते हैं गांधीजी खादी के वस्त्र पहनते थे खुद चरखा चलाकर सूट काटते थे इनके साथ इनकी पत्नी कस्तूरबा भी कदम मिलाकर चलती रही

             'वैष्णव जन तो तेणे 'कहिए' और 'रघुपति राघव राजा राम'' इनके प्रिय भजन थे
                      
                                   बापू सदा अमर रहेंगे !


Post a Comment

Previous Post Next Post